मतदाता सूची/पहचान पत्र की कमियां दूर करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता होगी – उमेश सिन्हा

उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री उमेश सिन्हा ने कहा है कि हाल ही में सम्पन्न हुये विधान सभा सामान्य निर्वाचन-2012 में मतदाता पंजीकरण, फोटो पहचान पत्र वितरण एवं मतदाता जागरूकता कार्यक्रम की सफलता इस तथ्य से सिद्ध होती है कि चुनाव में लगभग 60 प्रतिशत मतदान हुआ, इस कार्य की राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसा हुई है। उन्होंने कहा कि अब जब कि चुनाव प्रकिया पूरी हो चुकी है तो मतदाता पहचान पत्र एवं मतदाता सूची में मिली कमियों को दूर कराना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता होगी।
श्री सिन्हा आज यहा अपने जनपथ स्थित कार्यालय में उत्तर प्रदेश में मतदाता जागरूकता एवं शिक्षा की पहल पुनरावलोकन एवं भविष्य के लिए मार्ग विषय पर आयोजित एकदिवसीय कार्यशाला को सम्बोधित कर रहे थे। कार्यशाला में बहराइच, खीरी, श्रावस्ती, सीतापुर, रायबरेली, बुलन्दशहर, मेरठ, बाराबंकी, इलाहाबाद, कन्नौज, हमीरपुर, सहारनपुर, फैजाबाद, रमाबाईनगर, जालौन, मैनपुरी, मुरादाबाद, बरेली के तत्कालीन जिला निर्वाचन अधिकारियों को आमंत्रित किया गया था।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि चुनाव सतत् प्रक्रिया है तथा मतदाता जागरूकता कार्यक्रम भारत निर्वाचन आयोग की प्राथमिकताओं में प्रमुख है। अतः हमे मतदाताओं को जागरूक करते हुये उनका शत््प्रतिशत पंजीकरण सुनिश्चित कराना होगा। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम की सफलता के लिए प्रिंट/इलेक्ट्रानिक मीडिया, बैंको, पोस्ट आफिस, सूचना विभाग, शिक्षण संस्थानों तथा स्वयं सेवी संस्थाओं को सहयोग प्राप्त करना होगा।
श्री सिन्हा ने कहा कि वोट प्रतिशत में वृद्धि के लिए मतदाताओं को जागरूक करने के साथ-साथ उनको पोलिंग स्टेशन पर पहुंचने के लिए प्रेरित करने तथा उनको आवश्यक सुविधाये/जानकारी उपलब्ध कराने के लिए आधुनिकतम तकनीक को उपयोग करना होगा। उन्होंने कहा कि हाल ही सम्पन्न हुये विधान सभा चुनाव में जिन जिला निर्वाचन अधिकारियों ने सराहनीय कार्य किया है उन्हे आयोग द्वारा सम्मानित भी किया गया है। इस कार्यशाला के आयोजन का मुख्य उद््देश्य गत् विधान सभा चुनाव के दौरान संबंधित अधिकारियों के प्रयासो अनुभवों तथा मिली सफलता की जानकारी प्राप्त कर उसको अभिलेखबद्ध करना है जिससे की अन्य अधिकारी उनका लाभ उठा सके। यह अभिलेख भविष्य के मार्गदर्शक सिद्ध हो।
कार्यशाला में आये हुये तत्कालीन जिला अधिकारियों द्वारा मतदाता जागरूकता कार्यक्रम के संचालन के दौरान किये गये अभिनव प्रयासो की जानकारी दी गयी। बाराबंकी के तत्कालीन जिला निर्वाचन अधिकारी श्री विकास गोठलवाल ने फैजाबाद जिले की सीमा से लखनऊ जिले की सीमा तक बनायी गयी 52.5 कि0मी0 लम्बी मानव श्रंखला जिसमें लगभग 2.5 लाख लोगो ने भागीदारी निभायी के द्वारा मतदाता जागरूकता की सफलता के कहानी प्रस्तुत की गयी। इसी प्रकार बुलन्दशहर की तत्कालीन जिला अधिकारी श्रीमती कामिनी रतन चैहान ने बताया कि उन्होंने अपने जिले में यह अभियान चलाया कि जिला अधिकारी से वही लोग मिल सकेंगे जिनके पास पहचान पत्र होगा। उन्होंने कहा कि मतदाता जागरूकता अभियान के अन्र्तगत सभी वर्गों के लिए अलग-अलग कैम्प लगाकर वोटर आई0डी0 बनायी गयी। जिले के 17 कालेजो की 71 टीमे बनाकर रंगोली तथा कैन्डल लाइट कार्यक्रम आयोजित की गयी। रमाबाई नगर के तत्कालीन जिला निर्वाचन अधिकारी श्री मयूर महेश्वरी ने बताया कि उन्होंने मतदाता महोत्सव के माध्यम से विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर लोगों को मतदान के प्रेरित किया। बरेली के तत्कालीन जिला निर्वाचन अधिकारी श्री सुभाष चन्द्र शर्मा ने बताया कि उन्होंने बरेली में 20 मुख्य चैराहों को चिन्हित कर 25 जनवरी, 2012 को एक लाख दस हजार लोगों को शपथ पत्र तथा 2.5 लाख लोगों को हाथ मिलाने के लिये प्रेरित कर मतदाता जागरूकता कार्यक्रम की अभिनव पहल की।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कार्यक्रम में भाग ले रहे जिला निर्वाचन अधिकारियों द्वारा किये गये कार्यों की सराहना की। संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री अनीता मेश्राम ने कार्यक्रम में भाग ले रहे अधिकारियों को स्वागत किया। कार्यशाला को इलाहाबाद बैंक के मुख्य प्रबंधक ने भी सम्बोधित किया।

This entry was posted in Information. Bookmark the permalink.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>